झूठ की फैक्ट्री राहुल गांधी
झूठ की फैक्ट्री राहुल गांधी
in ,

सत्ता के लिए झूठ की फैक्ट्री चला रहा राहुल गाँधी, सत्ता मिल गयी तो इस देश को बेच खायेगा

राफेल पर राहुल गाँधी के पास नहीं कोई सबूत, सिर्फ दलाल मीडिया का है साथ जिसके दम पर चला रहा झूठ की फैक्ट्री

सपोर्ट करें, इसे शेयर जरुर करें
  • 4.5K
    Shares

राहुल गाँधी सत्ता पाने के लिए देश में जबरजस्त झूठ की फैक्ट्री चला रहा है, और इस देश ने राफेल के मुद्दे पर राहुल गाँधी के अबतक अनगिनित झूठ देख लिए है

चाहे वो राफेल के दाम ही, राहुल गाँधी खुद कई बार अलग अलग दाम बता चूका है, चाहे राफेल पर राहुल गाँधी द्वारा पेश किये गए कागज़ हो, सबकुछ कांग्रेस की झूठ की फैक्ट्री से ही निकल रहा है

राहुल गाँधी का झूठ बहुत कमजोर है, पर राहुल गाँधी की सबसे बड़ी ताकत ये है की देश का दलाल मीडिया उसके पास है, आज देश के 90% मीडिया हाउस, पत्रकार दलाली का ही काम करते है

और ये ही दलाल राहुल गाँधी की सबसे बड़ी ताकत है और इनके दम पर ही ये शख्स झूठ की फैक्ट्री पुरे देश में चला रहा है

और अभी इसका ताजा मामला देखने को मिला 8 फ़रवरी को, जब एक बड़े अख़बार जिसका नाम है “द-हिन्दू”, इस अख़बार को देश में बहुत से लोग पढ़ते है और इसे एक अखबार ही मानते है

इस अख़बार ने जान बुझकर एक पुरे कागज़ के खास हिस्से को काटकर छाप दिया, पुरे कागज़ को भी ये अख़बार छाप सकता था, पर इस अख़बार ने बहुत ही मक्कारी के साथ झूठ को सच बनाने का खेल करके कागज के एक भाग को क्रॉप कर इस्तेमाल कर लिया

और राहुल गाँधी ने उस अख़बार का इस्तेमाल करते हुए राफेल पर फिर झूठ की फैक्ट्री चलाई

इस घटना से एक बात साफ़ होती है की राहुल गाँधी के पास राफेल पर मोदी के खिलाफ कुछ भी नहीं है, राहुल गाँधी के पास सिर्फ 1 ही चीज है वो है बिकाऊ और दलाल मीडिया का साथ, और इसी के सहारे कांग्रेस की झूठ की फैक्ट्री लगातार चल रही है

पर देश को भी सोचना होगा की, एक ऐसा शख्स जो सत्ता पाने के लिए निम्न स्तर के झूठ को फैलाता हो, बार बार झूठ को फैलाता हो, उस शख्स की नैतिकता कितनी होगी, और ऐसे शख्स को अगर मौका मिल जाये इस देश पर राज करने का तो वो शख्स इस देश का क्या हाल करेगा, लोगो को जातिवाद और पर्सनल घमंड को सोचकर इस बारे में सोचना होगा, क्यूंकि देश बर्बाद हुआ तो असल में बर्बाद देश में रहने वाले लोग होंगे, और कोई नहीं