Anupam Kher on Samvidhan Khatre me hai Gangअन्य खबर

जब आपके कानों में आवाज आये की संविधान खतरे में है, समझ जाना चौकीदार ने एक और चोर पकड़ लिया : अनुपम खेर

हमे सपोर्ट करें, इसे शेयर जरुर करें
  • 18.9K
    Shares

भारत में आजकल 2-3 डाइलोग ऐसे बन चुके है जो की लगभग रोजाना ही किसी न किसी नेता, सेक्युलर, कट्टरपंथी, मिशनरी के मुह से सुनाई देते है

पहला डाइलोग है – संविधान खतरे में है, दूसरा है – लोकतंत्र खतरे में है, तीसरा है – इनटॉलेरेंस बहुत हो चूका है, चौथा है – बोलने की आज़ादी ख़त्म कर दी गयी है

ये सभी डाइलोग आपको मोदी राज में सेक्युलर नेताओं के मुह से, फिल्म्बाजो के मुह से, कट्टरपंथियों के मुह से रोजाना ही सुनाई देते है

अभी किसी घोटाले की जांच करो तो जिसके खिलाफ जांच हो रही होती है वो अपने भ्रष्टाचार को छिपाने के लिए भी संविधान लोकतंत्र फ़ेडरल स्ट्रक्चर की बात करके इनको खतरे में बता देता है

अभी बंगाल में चिट फण्ड घोटाले हुए, 100 से ज्यादा पीड़ित लोगो ने आत्महत्या तक की, पर किसी की आजतक गिरफ़्तारी नहीं हुई, क्यूंकि राजीव कुमार जैसे पुलिस कमिश्नर ने मामले को खूब दबाया चोरो को बचाया

जब उसके खिलाफ कार्यवाही हुई तो मोमता बनर्जी ने लोकतंत्र, संविधान इत्यादि को खतरे में बता दिया, ये तो सिर्फ एक उदाहरण है, आजकल जब भी लुट के खिलाफ कार्यवाही होती है तो आवाज आती है की लोकतंत्र, संविधान खतरे में है

और इसी मुद्दे पर अनुपन खेर ने 2 लाइन का एक त्वीट किया जो की वाइरल हो गया, आप भी देखिये उन्होंने क्या कहा

अनुपन खेर ने 2 लइनों में एक बड़ी बाद बता दी

जब भी आपके कानो में आवाज आये की लोकतंत्र खतरे में आ गया है, संविधान खतरे में है, फ़ेडरल स्ट्रक्चर खतरे में है और बाकि अन्य डाइलोग, तो आप समझ लीजिये की देश के चौकीदार यानि प्रधानमंत्री मोदी ने किसी न किसी चोर के गिरेबान पर हाथ डाल दिया है