Lalu yadav is ill
Lalu yadav is ill
in

चाराचोर और बिहार को बर्बाद करने वाले लालू यादव की तबियत बिगड़ी, लग चूका है कर्मो का शाप

लालू यादव ने बिहार में आतंक और लुट का राज न मचाया होता, तो आज बिहार भारत के श्रेष्ट राज्यों में होता

सपोर्ट करें, इसे शेयर जरुर करें
  • 6K
    Shares

बहुत से लोग आज भी देश में बिहार से दुर्भावना रखते है, और इसका प्रमुख कारण है लालू यादव, वरना बिहार में कोई कमी नहीं है

बिहार भारत के सबसे समृद्ध इलाकों में से एक है, बेस्ट भूमि, पानी ही पानी कोई कमी नहीं, कहीं पानी की किल्लत नहीं, युवाओं की संख्या देश में सबसे अधिक, दिमाग भी बिहारियों का बहुत अच्छा होता है, पर एक ही कमी जातिवाद, इसके अलावा बिहार तो बहुत समृद्ध है

और जब भारत आजाद हुआ था, तब 2 ही राज्य टॉप पर थे, बंगाल और बिहार, सभी फैक्ट्री इन्ही 2 राज्यों में थी, पर बिहार में जातिवाद जैसे जैसे बढ़ा वैसे वैसे वो पीछे चला गया, और लालू यादव के मुख्यमंत्री बनने के बाद तो बिहार में लुट, आतंक, जंगल का राज कायम हो गया

और स्तिथि ये हो गयी की बिहारियों के पास रोजगार की किल्लत हो गयी और उन्हें दुसरे राज्यों में जाना पड़ा और उनका मजाक बनाया गया, गाली दी गयी, सॉफ्ट टारगेट बनाया गया, और बिहारी शब्द एक गाली बना दिया गया

लालू ने बिहार का वो हाल किया की आज भी बिहार देश के सबसे पिछड़े इलाकों में है, और इसका मुख्य जिम्मेदार तो बिहार की ही जनता है, पर उस जनता को जातिवाद की आग लगाकर लालू यादव ने भड़काया और सत्ता पर काबिज हो गया

पर पाप की सजा भी भोगनी होती है, और लालू यादव आज चारा घोटाले में जेल में है, और अब तो उनकी तबियत भी बहुत ख़राब हो गयी है

खबर है की लालू यादव की तबियत काफी बिगड़ गयी है और उनका बिपि काबू में नहीं है, ब्लड प्रेशर बहुत लो हो गया है, और लालू यादव की स्तिथि ख़राब है

रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज यानी रिम्स अस्पताल के डॉक्टर लालू यादव का इलाज कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि किडनी के बाद अब आरडेडी प्रमुख के लीवर का एंजाइम बढ़ गया है।

साथ ही शुगर लेवल भी अनियंत्रित है। जानकारी के मुताबिक अचानक बढ़े रक्त शर्करा स्तर को काबू में लाने के लिए उनको दी जाने वाली इंसुलिन की मात्रा बढ़ा दी गई है। साथ ही डॉक्टरों ने तेल घी खाने पर रोक लगा दी है।

लालू यादव की हालत इतनी ख़राब है की बस वो बेड पर ही पड़े रहते है, उनकी उम्र कोई बहुत ज्यादा नहीं है उम्र में तो वो लगभग मोदी जितने ही है, पर पापों का बोझ उनके कंधे पर ज्यादा है, बिहारियों को अपमानित करवाया, जानवरों का चारा चुरा लिया और इसी का शाप भोग रहे लालू