Rahul Gandhi daily routine these Daysराजनीती

आजकल यही है राहुल गाँधी का डेली रूटीन, झूठ की फैक्ट्री चलाने में मीडिया भी कर रही मदद

हमे सपोर्ट करें, इसे शेयर जरुर करें
  • 5.2K
    Shares

राहुल गाँधी और मीडिया – भारत में ये दोनों मिलकर झूठ की फैक्ट्री चला रहे है, और ये दोनों ही एक ही फोर्मुले पर काम कर रहे है – वो फार्मूला है – बार बार झूठ बोलो, लगातार झूठ बोलो ताकि जनता को झूठ ही सच लगने लग जाये

ऐसा हो भी जाता, वो तो शुक्र है की आज सोशल मीडिया है जो राहुल गाँधी और मीडिया के झूठ को कुछ ही समय में एक्सपोज कर देती है

पिछले ही दिनों राहुल गाँधी ने मिशनरी अख़बार द-हिन्दू की मदद से एक क्रॉप किया हुआ कागज़ दिखाकर झूठ फैलाया था, मीडिया ने उनके झूठ को सच बताकर खूब प्रचारित किया था

सोशल मीडिया को 1 घंटा नहीं लगा, और क्रॉप कागज की असलियत सामने आ गयी, पूरा कागज कुछ और ही बता रहा था, राहुल गाँधी और मीडिया एक्सपोज हो गए

Rahul Gandhi Lies on Rafale

Rahul Gandhi Lies on Rafale

आज 12 फ़रवरी हुई तो राहुल गाँधी आज नए कागज़ के साथ सामने आ गए, आज भी मीडिया ने उनके झूठ को फैलाने में जमकर मदद की

राहुल गाँधी ने जो बोला उसे मीडिया ने ब्रेकिंग न्यूज़ बताकर देश के सामने फैलाया, राहुल गाँधी ने आज कहा की – अनिल अंबानी को पहले से पता था की नरेंद्र मोदी 9 से 15 अप्रैल 2015 के बीच राफेल डील पर साइन करेंगे

राहुल गाँधी और मीडिया के झूठ को इस बार सोशल मीडिया ने सिर्फ 10 ही मिनट में पकड़ लिया

Rahul Gandhi is a Shameless Liar

Rahul Gandhi is a Shameless Liar

राफेल डील पर मोदी ने 9 से 15 अप्रैल 2015 के बीच नहीं बल्कि 25 जनवरी 2016 को साइन किये थे, अगर आज सोशल मीडिया न होता तो मीडिया राहुल गाँधी के झूठ को सच बताकर ही जनता को गुमराह कर रही होती

राहुल गाँधी के पास राफेल पर मोदी के खिलाफ कुछ नहीं है सिर्फ 2 ही चीजे उनके पास है, एक बेशर्मी भरा झूठ और एक भारतीय दलाल मीडिया

राहुल गाँधी की आज कल की जिंदगी ही ये बन गयी है की – सुबह उठो, प्रिंट आउट निकालो, और अपनी खरीदी हुई मीडिया को बुलाकर प्रेस कांफ्रेंस करो, वही प्रिंट आउट मीडिया के सामने सबूत बताकर दिखाओ, फिर सोशल मीडिया पर खुद ही एक्सपोज हो जाओ, रात को नशा करो और सो जाओ, और सुबह उठकर फिर ये ही सब रिपीट करो