Rajiv kumar summoned by CBI on 9th Februaryअच्छी खबर

बकरे की अम्मा कबतक खैर मनाएगी, राजीव कुमार को CBI ने 9 फ़रवरी को बुलाया, पेश होना ही पड़ेगा

हमे सपोर्ट करें, इसे शेयर जरुर करें
  • 4.8K
    Shares

एक पुरानी कहावत है की, बकरे की अम्मा कबतक खैर मनाएगी, ये कहावत आज चरितार्थ साबित हो रही है, और ये खबर भी आ चुकी है

भारत की श्रेष्ट जांच एजेंसी सीबीआई ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को 9 फ़रवरी को पेश होने का समन भेज दिया है

राजीव कुमार को 9 फ़रवरी को सीबीआई के सामने शिलोंग में पेश होना पड़ेगा, और सीबीआई जैसे चाहेगी वैसे राजीव कुमार से पूछताछ करेगी, जितनी चाहे उतनी खातिरदारी कर सकती है सीबीआई, सिर्फ राजीव कुमार की गिरफ़्तारी नहीं हो सकती पर खातिरदारी सीबीआई अपने मन मुताबिक करने को स्वतंत्र है

ये खबर काफी बड़ी है और मोमता बनर्जी जो खुद की जीत बता रही थी, उनके लिए बड़ा झटका है

पहले सीबीआई खुद कोलकाता आकर राजीव कुमार से पूछताछ करना चाहती थी, पर मोमता ने संविधान की धज्जियाँ उड़ाकर राजीव कुमार को बचाया

मामला भारत के सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा और सुप्रीम कोर्ट ने राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने का आदेश दिया, जब जब सीबीआई बुलाये तब तब शिलोंग आकर हाजिरी लगानी होगी

अब 9 फ़रवरी को राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होना है, और सीबीआई राजीव कुमार से चिट फण्ड घोटालों को लेकर सवाल जवाब करेगी, और सीबीआई के 5 अधिकारीयों को जो बंगाल की पुलिस ने हिरासत में लिया था, उस मामले पर भी सीबीआई राजीव कुमार की खातिरदारी कर सकती है, जो भी है असल में अब संविधान की जीत हुई है, और संविधान की जीत यानि मोमता की हार