SC orders against Momta
SC orders against Momta
in ,

SC का आदेश – राजीव कुमार को CBI के सामने पेश होना होगा, DGP, मुख्य सचिव को अवमानना का नोटिस

सीबीआई की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए थे के के वेणुगोपाल, मोमता की तरफ से कांग्रेसी अभिषेक मनु सिंघवी

सपोर्ट करें, इसे शेयर जरुर करें
  • 13.2K
    Shares

आख़िरकार मोमता का बहुत करीबी कोलकाता का पुलिस कमिश्नर सीबीआई के हाथ आ ही गया, आज सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई बनाम मोमता सरकार केस की सुनवाई हुई

सुप्रीम कोर्ट में इस सुनवाई के लिए मोमता की तरफ से कांग्रेसी अभिषेक मनु सिंघवी थे, जबकि सीबीआई की तरफ से के के वेणुगोपाल

सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई में कहा था की सीबीआई सबूत रखे की कोलकाता का पुलिस कमिश्नर चिट फण्ड घोटालों के सबूतों को मिटा रहा है

सीबीआई ने आज की सुनवाई में तमाम सबूत रखे, और आज सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की बातों को मानकर बड़ा आदेश दे दिया

सुप्रीम कोर्ट का आदेश है की कोलकाता के पुलिस कमिश्नर को सीबीआई के सामने हर बार पेश होना ही होगा, और वो बंगाल में नहीं बल्कि सीबीआई के सामने शिलोंग में पेश होगा

जब जब सीबीआई बुलाएगी राजीव कुमार को शिलोंग आकर पेश होना होगा

इसके अलावा सीबीआई सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर काम कर रही थी और बंगाल में सीबीआई के कम में खलल डाला गया, इसे लेकर सीबीआई ने कोर्ट में बंगाल के DGP और मुख्य सचिव के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का केस भी डाला था, इस मामले में कोर्ट ने बंगाल के DGP और मुख्य सचिव को नोटिस भी जारी कर दिया है

कोर्ट ने राजीव कुमार को ये भी आदेश दिया है की उसे सीबीआई के साथ पूरा सहयोग करना ही पड़ेगा

बता दें की अब सीबीआई राजीव कुमार से जैसे चाहे वैसे पूछताछ कर सकेगी, और राजीव कुमार को जब भी सीबीआई बुलाएगी उसे आना ही पड़ेगा

मोमता बनर्जी किसी भी स्तिथि में राजीव कुमार को बचाना चाहती थी, क्यूंकि उसे डर था की राजीव कुमार उसके भतीजे का नाम ले लेगा, फिर भतीजा पकड़ा गया तो वो सीधे बुवा यानि मोमता का नाम ले लेगा, इसी कारण मोमता ने राजीव कुमार को सीबीआई की पूछताछ से बचाने की कोशिश की, पर कोर्ट ने मोमता को करंट का झटका दे दिया है