Press "Enter" to skip to content

साध्वी प्रज्ञा के लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन करना चाहता है सेक्युलर खेमा, स्वयं आतंकी मानसिकता का परिचय दे रहे सेकुलर्स साध्वी प्रज्ञा आरोपी है न की दोषी, आरोपी तो राहुल गाँधी भी है, सोनिया, रोबर्ट, चिदंबरम भी है

हमे सपोर्ट करें, इसे शेयर करें
  • 134
    Shares

भारत का सेक्युलर खेमा कल 17 अप्रैल से ही अपनी स्वयं की आतंकवादी मानसिकता का परिचय दे रहा है, भारत का सेक्युलर खेमा लगातार चींख चींख कर बता रहा है की

उसे भारत के संविधान, कानून, मानवाधिकार, लोकतंत्र पर कोई भरोसा नहीं है, और सेक्युलर खेमा पूरी तरह लोकतंत्र, कानून और संविधान विरोधी है

भारत के सेक्युलर खेमे को एक बेसिक सिद्धांत ही नहीं पता, “आरोपी” और “दोषी” में फर्क का सिद्धांत

भारतीय जनता पार्टी ने साध्वी प्रज्ञा को भोपाल से अपना लोकसभा का उम्मीदवार बनाया है, दिग्विजय सिंह की इसके बाद से ही सिट्टी पिट्टी गुम है, और अब वो सीट से भाग भी नहीं सकते क्यूंकि उनके नाम का पहले ही ऐलान हो चूका है

सेक्युलर खेमा इसके बाद से ही एक्टिव है, और एक सुर में सेक्युलर खेमा साध्वी प्रज्ञा को आतंकवादी बता रहा है

भारत की किसी भी कोर्ट ने साध्वी प्रज्ञा को दोषी नहीं ठहराया, जिस कांग्रेस पार्टी ने उनको जेल में डाला था वो सालों तक उनके खिलाफ 1 भी सबूत किसी अदालत में पेश नहीं कर सकी

साध्वी प्रज्ञा आरोपी है न की दोषी, और भारत के संविधान और कानून के मुताबिक ही उनको जमानत मिली है

पर सेक्युलर खेमा उनको आतंकवादी बता रहा है और उनके चुनाव लड़ने पर ही आपत्ति दर्ज करवा रहा है

1- भारत के सेक्युलर खेमे को भारत के कानून और संविधान पर कोई भरोसा नहीं है और न ही ये कानून और संविधान का सम्मान करते है

2- साध्वी प्रज्ञा को भारत के संविधान के हिसाब से चुनाव लड़ने का लोकतांत्रिक अधिकार है, और उनको ये अधिकार संविधान ने दिया है, जिसे आंबेडकर की अध्यक्षता में बनाया गया था

3- साध्वी प्रज्ञा के लोकतांत्रिक अधिकारों का भारत का सेक्युलर खेमा लगातार हनन करने का प्रयास कर लोकतंत्र पर ही हमला कर रहा है

अगर “आरोपी” साध्वी प्रज्ञा आतंकवादी है तो इसी लोजिक के हिसाब से नेशनल हेराल्ड घोटाले के “आरोपी” राहुल गाँधी और सोनिया गाँधी चोर है, जमीन घोटालों के आरोपी रोबर्ट वाड्रा, कई घोटालों के आरोपी चिदंबरम बाप बेटे सबके सब चोर लुटेरे है !

Comments are closed.