ताज़ा खबर

वरिष्ट कांग्रेस नेता ने कहा – “वहीं बने प्रभु श्रीराम का मंदिर जहां कुछ जिद कर रहे बाबरी की” कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर का किया समर्थन

हमे सपोर्ट करें, इसे शेयर जरुर करें
  • 163
    Shares

हिंदुत्व के पुरोधा हुतात्मा वीर सावरकर जी की वो बात आज के राजनैतिक परिक्षेप्य में अक्षरशः सत्य साबित हो रही है, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर हिन्दू समाज एक हो जाए तो ये तथाकथित हिन्दू विरोधी राजनेता खुद को सनातनी साबित करने के लिए कोट के ऊपर जनेऊ पहिनेंगे.

आज के राजनैतिक परिद्रश्य में बिल्कुल यही हो रहा है जब हमेशा हिन्दू विरोध की राजनीति करने वाले दल आज न सिर्फ मंदिर मंदिर दौड़ रहे हैं बल्कि उनमें खुद को बड़ा हिन्दू साबित करने की होड़ भी लगी है.

ये सब हुआ है 2014 के लोकसभा चुनावों के बाद जब देश की हिन्दू राष्ट्रवादी जनता ने इन छद्म सेक्यूलर दलों को पूरी तरह से दरकिनार कर दिया तथा भारतीय जनता पार्टी को सत्ता सौंपी थी.

इसी बीच कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि वह अयोध्या में विवादित जमी पर प्रभु श्रीराम मंदिर बनाये जाने का समर्थन करते हैं.

वीरभद्र सिंह ने कहा कि कि भारत में इस्लाम बाद में आया और अयोध्या में मंदिर को तोड़ने के बाद मस्जिद बनाई गई थी. उन्होंने कहा कि जिस जगह बाबरी मस्जिद बताई जाती है, वहीं पर श्रीराम का मंदिर बनना चाहिए.

देवभूमि हिमाचाल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे वीरभद्र सिंह ने बीजेपी पर यह भी आरोप लगाया कि उसके पास राम मंदिर निर्माण को लेकर साहस की कमी है.

वीरभद्र सिंह ने कहा कि यदि उनमें (बीजेपी) साहस होता तो वे मंदिर बना चुके होते. वहां राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि अयोध्या भगवान राम की राजधानी थी. अगर आपने (बाबरी मस्जिद ढहाने का) यह कदम उठाया है तो फिर मंदिर बना दो.