अगर बंगाल में रहना है तो बंगाली बोलना ही होगा : ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल में अराजकता और अपराध के बीच आज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कई तरह के विवादस्पद बयान दिए, एक तरफ बंगाल में मजहबी उन्मादियों के द्वारा डाक्टरों पर हमला किया गया उसकी निंदा की जगह ममता ने आज कहा की – बंगाल में बुरी शक्तियों ने असर दिखाना शुरू कर दिया है

आज ममता बनर्जी ने कहा की – मुझे मौत से डर नहीं लगता बल्कि मौत को ही मुझसे डर लगता है, साथ ही साथ ममता बनर्जी ने कहा की अगर किसी को बंगाल के अन्दर रहना है तो उसे बंगाली बोलना ही पड़ेगा

ममता बनर्जी ने ये भी कहा की, बंगाल में डाक्टरों को बाहरी लोग भड़का रहे है और बंगाल का माहौल ख़राब कर रहे है, ममता बनर्जी ने साथ ही साथ लोकसभा चुनाव को भी आज याद किया और कहा की EVM में गड़बड़ी की गयी थी

आपकी जानकारी के लिए बता दें की पिछले दिनों कोलकाता के एक अस्पताल में एक वृद्ध मुस्लिम व्यक्ति की प्राकृतिक मृत्यु हो गयी थी, जिसके बाद उसके रिश्तेदारों ने 200 मुस्लिम लोगो की भीड़ को बुलाकर डाक्टरों पर हमले किये थे

इस हमले में कई डाक्टरों को काफी चोट पहुंची थी, और एक डॉक्टर जिनका नाम परिबाहा मुखर्जी है उनके सर की हड्डी में भी चोट पहुंची थी, इसी के बाद से देश भर के डाक्टरों में इसे लेकर नाराजगी है

वहीँ ममता बनर्जी जो की बंगाल की मुख्यमंत्री है उन्होंने अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही की जगह डाक्टरों को ही धमकियाँ दी, और आज कहा की – बंगाल में बाहरी लोग डाक्टरों को भड़का रहे है, ममता के रवैये के चलते पुरे बंगाल और साथ ही देश में अब स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर चिंता बढ़ गयी है, क्यूंकि डाक्टरों ने हड़ताल की बातें कही है