कमलनाथ सरकार ने MP में बिजली संकट के लिए चमगादड़ो को बताया जिम्मेदार

मध्य प्रदेश में जबतक शिवराज सिंह चौहान सरकार थी तबतक बिजली की स्तिथि काफी अच्छी थी, पर पिछले साल मध्य प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के बनने के बाद से ही बिजली संकट पैदा हो गया है

मध्य प्रदेश के गाँव में ही नहीं बल्कि सभी प्रमुख शहरों में घंटो-घंटो की बिजली कटौती हो रही है और इसके लिए अब कमलनाथ सरकार की प्रशासन ने चमगादड़ो को जिम्मेदार बता दिया है

जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पहले कमलनाथ सरकार ने बिजली संकट के लिए शिवराज सिंह चौहान को जिम्मेदार बताया था और कहा था की बीजेपी ने ख़राब ट्रांसफार्मर लगवाए थे

पर अब हद तो तब हो गयी जब प्रशासन चमगादड़ो को बिजली संकट के लिए जिम्मेदार बता रहा है, बिजली संकट पर मध्य प्रदेश के उर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने बिजली विभाग के अफसरों के साथ एक मीटिंग की, जिसमे अधिकारीयों ने कहा की बिजली के तारों पर चमगादड़ उलटे लटकते है और इसी कारण बिजली संकट उत्पन्न हो रहा है

अधिकारीयों की बात को मंत्री प्रियव्रत सिंह ने भी आगे बढाया और कहा की भोपाल में तो चमगादड़ों की संख्या बहुत बढ़ गयी है, इसी कारण बिजली संकट उत्पन्न हो रहा है

कांग्रेस सरकार और उसके प्रशासन का कहना है की चमगादड़ बिजली के तारों पर लटक जाते है और इसी कारण कई तार आपस में चिपक जाता है और बिजली संकट उत्पन्न हो जाता है

प्रदेश में जनता गर्मी के कारण बेहाल है, बिजली कटौती से जनता में आक्रोश है, उनको सरकार का तर्क समझ में नहीं आ रहा है क्यूंकि चमगादड़ कोई कमलनाथ सरकार के बनने के बाद से मध्य प्रदेश में नहीं लटकने लगे तारों से, शिवराज सिंह के राज में भी चमगादड़ थे और वो तारों से उल्टा ही लटकते थे, तब बिजली आती थी, पर कमलनाथ सरकार अपनी नाकामी का ठीकरा चमगादड़ों पर फोड़ रही है