देश, हिन्दू और सेना के खिलाफ रोज उगलता था जहर, अब जीवन भर जेल में रहेगा कलंक संजीव भट्ट

पूरी आईपीएस संजीव भट्ट जो की भारत की पुलिस सेवा पर एक कलंक था उसे आज उम्र कैद की सजा सुना दी गई है, 29 साल बाद आज न्याय हुआ है

पुलिस में रहते हुए संजीव भट्ट ने एक मामले में कई लोगो को गिरफ्तार किया था, उसमे से इसने 1 व्यक्ति को प्रताड़ित कर कर के मार डाला था, उसी मामले में 29 साल बाद न्याय हुआ और इसे उम्र कैद की सजा सुनाई गयी

संजीव भट्ट वैसे एक अन्य मामले में पहले से ही जेल में बंद था, इसने अक वकील को फंसाने के लिए उसने पते पर ड्रग्स रखवाया था, इस मामले में ये पहले से जेल में था, और अब अपनी हिरासत में एक व्यक्ति को मारने के मामले में इसे उम्रकैद की सजा सुनाई गयी है

संजीव भट्ट आईपीएस था और ये गुजरात के जामनगर में तैनात था, इसने एक मामले में प्रभुदास नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया पर उसके खिलाफ इसके पास कोई सबूत न होने के चलते अदालत ने उसे छोड़ दिया

पर उस व्यक्ति की थोड़े दिनों बाद मृत्यु हो गयी, बाद में पता चला की हिरासत के दौरान संजीव भट्ट ने उसे निर्दयता से मारा था, उसे ये फंसाना चाहता था, और इतना मारा की उसकी मौत हो गयी

इसी मामले में अब जामनगर की अदालत ने संजीव भट्ट को आज उम्रकैद की सजा सुनाई है

संजीव भट्ट एक राजनितिक व्यक्ति रहा है और इसकी पत्नी नरेंद्र मोदी के खिलाफ गुजरात की मणिनगर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के टिकेट पर चुनाव भी लड़ चुकी है, संजीव भट्ट कांग्रेस का करीबी रहा है, और इसकी पत्नी श्वेता भट्ट आज भी कांग्रेस की ही नेता है

संजीव भट्ट राहुल गाँधी के साथ

संजीव भट्ट सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव था और रोजाना इसका सोशल मीडिया पर 1 ही काम था वो था हिन्दू, भारत, सेना और मोदी विरोध

ये हिन्दू धर्म के खिलाफ, भारतीय सेना के खिलाफ, देश के खिलाफ आये दिन सोशल मीडिया अपर जहर उगलता था, सैंपल देखिये

हनुमान जी का अपमान करता कलंक संजीव भट्ट

ये सिर्फ एक उदाहरण है, इसका रोज का काम ही ये था, कांग्रेस का ये करीबी था और सोशल मीडिया पर रोज हिन्दू धर्म, हिन्दू समाज, भारतीय सेना, और भारत के खिलाफ जहर उगलता था

अब संजीव भट्ट जेल के अन्दर ही रहेगा, वैसे इसे 1 मामले में उम्रकैद की सजा हुई है, ये कई अन्य मामलों में पहले से जेल में है और इन मामलों में भी न्याय होना अभी बाकी ही है