ममता बनर्जी इंशाल्लाह बोल सकती है तो हम जय श्री राम क्यों नहीं बोल सकते : राहुल सिन्हा

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अब खुलकर मुस्लिम तुष्टिकरण कर रही है, ममता बनर्जी समझ गयी है की कुछ हिन्दुओ का वोट उनको मिलेगा ही चूँकि हिन्दुओ में अभी भी काफी सेकुलरिज्म है, ऐसे में वो सत्ता में बनी रहेंगी, अगर पूरा मुस्लिम वोट बैंक उनके साथ खड़ा रहा

इसी को लेकर ममता बनर्जी ने पिछले दिनों जय श्री राम को लेकर भी हिन्दुओ का काफी दमन किया था, कई हिन्दुओ को गिरफ्तार करवा दिया था

इसके अलावा पिछले दिनों कोलकाता के एक अस्पताल में 200 के लगभग की मुस्लिम भीड़ ने डाक्टरों पर हमला किया था, ममता बनर्जी ने अबतक दंगाइयों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की, उल्टा डाक्टरों को ही धमकाया

ममता बनर्जी मुस्लिम वोट बैंक के लिए जमकर राजनीती कर रही है, और उनकी इस तुष्टिकरण और हिन्दुओ के दमन की राजनीती पर बीजेपी नेता राहुल सिन्हा ने काफी तीखा और स्पष्ट कटाक्ष किया है

अक्सर देखा गया है की ममता बनर्जी ने कलमा पढ़ा, नमाज़ पढ़ा, वो इफ्तार पार्टी भी करती है, और मंच से इस्लाम के नारे भी स्वयं लगाती है, इसपर बीजेपी नेता ने तीखा कटाक्ष किया


राहुल सिन्हा ने कहा की – जय श्री राम बंगाली लोग बोलना चाहते है पर ममता बनर्जी लोगो की आवाज को दबाना चाहती है, अगर ममता बनर्जी इंशाल्लाह बोल सकती है तो फिर कोई और जय श्री राम क्यों नहीं बोल सकता

राहुल सिन्हा भी मूल रूप से बंगाली ही है, और कानून तो सबके लिए बराबर ही है, धार्मिक आज़ादी सबको है, अगर ममता बनर्जी इंशाल्लाह बोल सकती है तो कोई अन्य बंगाली जय श्री राम बोलने के लिए भी स्वतंत्र ही है, और अगर जय श्री राम के खिलाफ कार्यवाही हो रही है तो इंशाल्लाह के खिलाफ भी कार्यवाही होनी चाहिए, कानून धर्म के आधार पर अलग अलग तो नहीं हो सकता